Archive for जम्मू

सुल्ला पार्क – जम्मू

जम्मू, कटरा में सुल्ला पार्क सैर के लिए एक अच्छी जगह है –

20191014_133144

पार्क में एक मंदिर भी है

20191014_133721

दो कुण्ड भी है जिसमे मछलियां है,  विभिन्न तरह के पेड़ो-पौधों से सजा हरा-भरा पार्क है –

 

20191014_134944

 

सुल्ला पार्क की सैर के बाद हम जम्मू से लौट आए।

 

टिप्पणी करे

बाबा पियाई की जलधारा – जम्मू

जम्मू, कटरा में पहाड़ से गिरती जलधारा जिसे कहते है – बाबा पियाई की जलधारा

20191014_123929

 

सैर के लिए एक अच्छी जगह है.

कुछ देर यहां अच्छा समय बिताने के बाद हम गए सुल्ला पार्क जिसकी चर्चा अगले चिट्ठे में

 

टिप्पणी करे

अगहर जित्तो मंदिर

जम्मू , कटरा में माँ वैष्णो देवी का परम भक्त – अगहर जित्तो

रोज़ पहाड़ी पर चढ़ कर जाता और माँ के दर्शन करता। उसी के अथक प्रयासों से सूखे गाँव में पानी मिलने लगा।

पानी की इस सौगात और माँ की भक्ति से उनकी स्मृति हमेशा बनाए रखने के लिए उनका मंदिर बनाया गया जिसमे माँ वैष्णो देवी की मूर्ति के साथ अगहर जित्तो की भी मूर्ति है –

20191014_143116

यहां नमन करने के बाद हम गए बाबा पियाई जलधारा देखने जिसकी चर्चा अगले चिट्ठे में …..

टिप्पणी करे

नौ देवी मंदिर – कटरा

जम्मू, कटरा में वैष्णौ देवी के दर्शन के बाद हमने कटरा में अन्य स्थल देखे। सबसे पहले देखा नौ देवी मंदिर –

20191014_113242

गुफा को काट कर बनाया गया है. नीचे सीढिया उतर कर जाना है. बाई ओर चट्टान काट कर आकार में बना हुए है शिव, गणेश और विश्राम की मुद्रा में हनुमान

कुछ और सीढिया उतर कर सामने है गुफा, प्रवेश द्वार..

20191014_113649

आगे बढ़ कर बैठे-बैठे चलते हुए गुफा के भीतर जाने पर नौ देवी के दर्शन होते है ,

एक साथ माँ के नौ रूप एक चक्राकार में है

यहां से निकल कर हम गए अगहर जित्तो जिसकी चर्चा अगले चिट्ठे में …

टिप्पणी करे

रणवीरेश्वर मंदिर

रघुनाथ मंदिर से कुछ ही दूरी पर व्यस्त सड़क पर हैं रणवीरेश्वर मंदिर -

यह शिव मंदिर हैं. मंदिर का प्रांगण बहुत बड़ा हैं. आगे कुछ सीढियां चढ़ने पर ऊंचाई पर मुख्य मंदिर हैं. सामने सफ़ेद झक विशाल हिमलिंग हैं. दोनों ओर चार-चार बड़े शिवलिंग हैं. 

सामने गर्भ गृह में शिव पार्वती वर-वधू के रूप में हैं. यह रूप आमतौर पर मंदिरों में नही होता हैं. मैंने पहली ही बार देखा. 

यहाँ पूजापा में सामान्य फलों केले, अंगूर के साथ काजू के फल भी बहुत देखे गए. 

यहाँ से निकल कर हम दिल्ली लौट आए जिसकी चर्चा अगले चिट्ठे में....

टिप्पणी करे

रघुनाथ मंदिर

जम्मू में व्यस्त चौराहे पर हैं रघुनाथ मंदिर.

जम्मू काश्मीर के महाराजा द्वारा तैयार करवाया गया हैं यह मंदिर. बाहर से पांच कलश नज़र आते हैं जो लम्बाई में फैले हैं -

गर्भ गृह में राम सीता लक्ष्मण की विशाल मूर्तियाँ हैं.

इस मंदिर की विशेषता यह हैं कि इसमे रामायण महाभारत काल के कई चरित्रों की मूर्तियाँ विभिन्न कक्षों में हैं. गर्भ गृह के चारो ओर अहाते में विशाल कक्ष बने हैं जिनमे ये मूर्तियाँ हैं.

इसके अलावा एक कक्ष में चारों धाम के दर्शन किए जा सकते हैं. बीच में ऎसी व्यवस्था हैं कि चारों ओर से एक-एक धाम - रामेश्वरम, द्वारकाधीष, बद्रीनाथ, केदारनाथ के दर्शन किए जा सकते हैं.

एक कक्ष में बीच में भगवान सत्यनारायण के दर्शन किए जा सकते. बीचोबीच उकेरा गया सूर्य बहुत सुन्दर हैं. चारों ओर दीवारों पर बारहमासा दर्शनीय हैं, हर महीने चैत्र, वैशाख आदि के लिए उस माह के मुख्य देवता की मूर्ति हैं.

यहाँ से हम आगे बढे और देखा रणवीरेश्वर मंदिर जिसकी चर्चा अगले चिट्ठे में....

Comments (1)

चारो धाम मंदिर

जम्मू में बाग़-एक-बाहू से निकल कर हम चारो धाम मंदिर देखने गए.

तवी नदी के किनारे स्थित इस मंदिर तक पहुँचने तक बारिश बहुत तेज़ हो चुकी थी. इस मंदिर में चार धाम के दर्शन किए जा सकते हैं -

सबसे पहले नीचे नदी के किनारे रामेश्वरम के दर्शन हम कर सकते हैं. रामेश्वरम की तरह यहाँ बड़ा शिवलिंग हैं और परम्परा के अनुसार राम,सीता, लक्ष्मण तथा हनुमान जी की मूर्तियाँ हैं.

सीढियां चढ़ कर ऊपर जाने पर सबसे पहले द्वारकाधीश का मंदिर हैं. कृष्ण, बलराम और सुभद्रा की पारंपरिक मूर्तियाँ हैं.

इसके बाद बद्रीनाथ के दर्शन होते हैं. इसके आगे केदारनाथ की तरह शिवजी के दर्शन होते हैं.

यहाँ से सीढियां उतर कर नीचे अंडरग्राउंड जाने पर पशुपतिनाथ का मंदिर हैं जो ज़्यादा आकर्षित करता हैं. विशाल नंदी पर बना हैं शिवलिंग.

यहाँ एक विशेष बात देखी. सभी मूर्तियों की पोशाके जम्मू की पारंपरिक पोशाक यानि फिरन थी.

इसके बाद हम रघुनाथ मंदिर देखने गए जिसकी चर्चा अगले चिट्ठे में....

टिप्पणी करे

Older Posts »