Archive for गोकुल

गोकुल धाम

वृन्दावन देखने के बाद हम गोकुल धाम पहुंचे। यह छोटा सा गाँव है। यहाँ भी संकरी गलियाँ है और यहाँ भी दही लस्सी की छोटी दुकाने सजी है। यहाँ देखा नन्द गाँव। यहाँ नन्द जी के महल को मंदिर में परिवर्तित किया गया है –

Photo0034

बाई ओर वासुदेव आगमन की मूर्ती है जिसमे वासुदेव सिर पर टोकरी उठाए है जिसमे लालजी ( छोटे कृष्ण ) विराजमान है। आगे बाल लीलाओं जैसे माखन चोर, कृष्ण, नन्द, यशोदा आदि की झांकियां है।
मुख्य गर्भ गृह बीच के कक्ष में हैं।  इसमे बलभद्र और योगमाया है और नीचे झूले में है कृष्ण। श्रृद्धालु दर्शन के बाद झूला देते है जो स्टील की मोटी कडी खींच कर दिया जाता है।
सांकल लगे छोटे -छोटे किवाड़ के विभिन्न कक्ष नीचे और उपरी तल में उस समय के महलो का जीता जगता उदहारण है –
Photo0031
नन्द गाँव देखने के बाद हमने देखा मथुरा जिसकी चर्चा अगले चिट्ठे में …
Advertisements

Comments (2)