दक्षिणी छोर का तीर्थ स्थल – रामेश्वरम

चेन्नै से शाम में हम रेलगाड़ी में बैठे रामेश्वरम जाने के लिए।

रामेश्वरम तक आते-आते गाड़ी बहुत खाली हो चुकी थी। सवेरे 4 बजे के बाद गाड़ी में चाय काँफ़ी वाले आए और बताया कि अभी देखो खिड़की से समुद्र आएगा। कुछ देर बाद गाड़ी की गति धीमी हुई और खिड़की से देखने पर पानी की पतली धारा दिखी जो बढती गई और इस तरह लगा रेलगाड़ी ने समुद्र में प्रवेश किया। दोनों ओर लहराता समुद्र। अँधेरा था फिर भी लहरों के साथ चलना अच्छा लग रहा था। ऐसे लग रहा था समुद्र में पटरियाँ बिछी है। दाहिनी ओर पुल नज़र आया जिस पर बसें और अन्य वाहन नज़र आए पर ये पुल समुद्र के ऊपर साफ़ नज़र आया जबकि रेल समुद्र में चलती महसूस हुई।

समुद्र की दूरी लगभग 3 किलोमीटर है जिसे पार करने पर ही हम रामेश्वरम पहुँच पाते है। रामेश्वरम एक छोटा द्वीप है जो समुद्र से घिरा है। चार दिशाओं में स्थित तीर्थ स्थलों में से दक्षिणी छोर पर स्थित है रामेश्वरम।

गाड़ी स्टेशन पर पहुँची लगभग 5:15 बजे। बहुत छोटा सा स्टेशन है। प्लेटफ़ार्म एकदम सुनसान, केवल गाड़ी से उतरे हम कुछ लोग ही थे। बाहर निकले तो अँधेरा ही था। सामने आटो वाले आ गए। पता चला मन्दिर के आस-पास ही ठहरने के लिए उचित स्थान है और हम चल पड़े आटो में। यहाँ आटो में मीटर नहीं होते है, हर व्यक्ति 10 रूपए के हिसाब से पैसे लिए जाते है। स्टेशन से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर ही है मन्दिर। यहाँ हम बता दे कि बस अड्डे से मन्दिर की दूरी लगभग 5 किलोमीटर है।

हम पहुँचे मन्दिर के पास। वहीं एक अच्छे होटल में हमें रहने के लिए अच्छी जगह मिल गई। हम तैयार होने तक दिन निकल आया था। हम चल पड़े मन्दिर की ओर। यह है मन्दिर -

100_3693

मंदिर के शिखर जिसे दक्षिण में गोपुरम कहा जाता है, पर देवी देवताओं की आकृतिया है और बीच में तमिल में लिखा है रामालय. जी हां इस मंदिर को रामालय या रामनाथ स्वामी का मंदिर भी कहते है. राम के नाथ या ईश्वर है शिव, इस शिव मंदिर के भीतर की जानकारी अगले चिट्ठे में....

Advertisements

4 टिप्पणियाँ »

  1. jodhraj potter said

    It is a dharmik sthal for hindu.

  2. m vimal kumar jain said

    i want to know how can go there by air

  3. m vimal kumar jain said

    i want to know more

  4. anug said

    एक के बाद एक क्रम से लिखे इन चिट्ठों में मैने अधिकांश जानकारी दे दी है। हवाई मार्ग से तमिलनाडू तक जाकर शायद वहाँ से बस या रेल से यात्रा करनी होगी। रामेश्वरम तक हवाई यात्रा है, इसकी मुझे जानकारी नही।

RSS feed for comments on this post · TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s